Blogspot Subdomain Vs Custom Domain In Hindi

Hello Friends, क्या आप भी इसी सोच में डूबे हुए हैं कि आपको एक Custom Domain लेना चाहिए या फिर Blogspot Subdomain का ही उपयोग करना चाहिए। तो दोस्तों आज मैं आपको पूरे विस्तार से बताऊंगा Blogspot Subdomain Vs Custom Domain In Hindi और मैं आपको ये भी बताऊंगा कि आपको कौन सा डोमेन लेना चाहिए और दोनों में से कौन सा डोमेन अच्छा है।

दोस्तों Blogspot blogger.com का Subdomain है जो आपको मुफ्त में मिलता है वहीं Custom Domain आपका अपना डोमेन होता है जिसे आपको पैसे देकर खरीदना होता है। इसलिए बहुत से लोग जब ब्लॉगिंग की शरुआत करते हैं तो उन्हें समझ नहीं आता है कि उन्हें कौन सा डोमेन लेना चाहिए और अपना ब्लॉग शुरू करना चाहिए। इसलिए आज मैं आपको इन दोनों डोमेन के फायदे और नुकसान दोनों बताऊंगा जिससे आपके मन के सारे सवाल निकल जाएंगे।

Blogspot Subdomain Vs Custom Domain 

दोस्तों जैसा जैसा की मैंने आपको पहले ही बताया Blogspot Subdomain आपको मुफ्त में मिलता है जबकि Custom Domain आपको पैसों से खरीदना पड़ता है। Blogspot Subdomain को आप सिर्फ Blogger पर ही उपयोग कर सकते हैं जबकि Custom Domain आप कहीं पर भी उपयोग कर सकते हैं।

अगर आप Custom Domain लेते हैं तो ये आपके ब्रैंड को दिखाता है और मार्केट में आपके डोमेन की एक अलग पहचान बनती है जबकि Blogspot Subdomain के जरिए आप जो भी अपना डोमेन बनाते हैं उसके पीछे blogspot.com लगा रहता है जो को दिखने में शायद आपको भी अच्छा नहीं लगता होगा।

आजकल मार्केट में Subdomain की अहमियत ज्यादा नहीं रह गई है क्योंकि लगभग सभी लोग अपने लिए एक Custom Domain ही लेना पसंद करते हैं। जब आप Google पर कुछ भी सर्च करते होंगे तब आप जरा गौर कीजिएगा की Google पर कोई भी Blogspot Subdomain दिखाई नहीं देता है लगभग सभी Custom Domain वाले ही ब्लॉग होते हैं। मतलब कि अगर आप Blogspot Subdomain लेते हैं तो Google पर रैंक करना आपके लिए बहुत मुश्किल होगा।

Custom Domain Ke Fayde

दोस्तों अगर आप एक Custom Domain लेते हैं तो इसके बहुत सारे फायदे हैं जो मै आगे आपको बताने वाला हूं। इससे मार्केट में आपकी एक अलग पहचान बनती है। Custom Domain से Google पर आपके ब्लॉग को जल्दी रैंक करने के चांसेस बढ़ जाते हैं जबकि Blogspot Subdomain से आपको गूगल पर रैंक करने में साल भर का समय भी लग सकता है।

अगर आपके पास एक Custom Domain है तो आप बड़ी बड़ी कंपनियों या बड़ी बड़ी वेबसाइटों कि तरह अपना भी एक प्रोफेशनल ईमेल बना सकते हैं जैसे उनका होता है – yourname@yourdomain.com और अगर आप चाहें तो आप अपने लिए एक Subdomain भी बना सकते हैं जैसे – yoursubdomain.yourmaindomain.com.

आप अपने Custom Domain को चाहें तो Blogger पर भी होस्ट कर सकते हैं और अगर आप चाहें तो इसे कहीं से होस्टिंग लेकर वहां पर भी होस्ट कर सकते हैं और वर्डप्रेस का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन आप Blogspot Subdomain से वर्डप्रेस का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। Blogspot Subdomain सिर्फ ब्लॉगर के लिए है।

और अब सबसे बड़ी बात कि अगर आपका ब्लॉग Custom Domain पर है और आपका ब्लॉग अभी सिर्फ एक या दो महीना पुराना है तो फिर भी आपको AdSense का अप्रूवल मिल जाएगा और आपका ब्लॉग मोनेटाइज हो जाएगा जिससे आप पैसे भी कम पाएंगे। लेकिन अगर आपके पास Blogspot Subdomain है तो आपका ब्लॉग जब तक 6 महीने पुराना नहीं होगा आपको AdSense का अप्रूवल नहीं मिलेगा और तब तक आप Adsense से पैसा नहीं कमा सकते हैं।

Blogspot Subdomain Vs Custom Domain Dono Me Se Koun Best Hai

दोस्तों ये दोनों डोमेन अपने अपने जगह पर सही हैं। आज भी ऐसे बहुत से ब्लॉग हैं जो Blogspot Subdomain उपयोग करते हैं और AdSense के जरिए कमाते भी हैं। अगर आपके पास पैसे नहीं हैं तो आप Blogspot Subdomain लेकर अपना ब्लॉग शुरू कर सकते हैं।

Blogspot Subdomain Ke Nuksan

दोस्तों अगर ऐसा सोच रहें हैं कि अभी Subdomain ले लेते हैं और भविष्य में कभी अपने Subdomain को बदल कर उसके जगह Custom Domain ले लेंगे तो इससे आपको बहुत नुकसान होगा। इससे आपके ब्लॉग की रैंकिंग पूरी तरह से खराब हो जाएगी। जब आप अपने Subdomain को बदलेंगे और नया Custom Domain लगाएंगे तो आपका ब्लॉग एक नए ब्लॉग की तरह काम करेगा।

अगर आपके पहले वाले ब्लॉग पर Adsense Approval होगा तो वो भी चला जाएगा। मतलब कि जब आपके ब्लॉग की रैंकिंग और AdSense सब चला जाएगा तो आपको फिर से शुरुआत करनी होगी। इसलिए दोस्तों मैं आपको यही बात कहूंगा कि अगर आपको ब्लॉग शुरू करना है तो आप Custom Domain के साथ ही शुरू करें और अगर आप Blogspot Subdomain के साथ शुरू कर रहें हैं तो फिर आप कभी उसे Custom Domain से बदलना मत उसी डोमेन से अपना ब्लॉग भविष्य में चलाते रहना।

Conclusion

दोस्तों उम्मीद करता हूं कि blogspot subdomain vs custom domain से जुड़े आपके सारे सवालों के जवाब मिल गए होंगे और अभी भी आपके मन मे कोई सवाल है तो आप हमसे कॉमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। अगर आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आयी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

1 thought on “Blogspot Subdomain Vs Custom Domain In Hindi”

Leave a Comment